AgricultureBusiness IdeasFarmer SchemesGovernment SchemesNewsTrending

biogas plant subsidy 2023 | बायोगॅस प्लांट लगाने के लिए किसानो को मिलेगी सरकार से सबसिडी, जल्दी करे ऑनलाइन आवेदन

biogas plant subsidy 2023: राज्य सरकार की ओर से किसानों (farmers) के लिए एक अच्छी खबर है। राज्य में प्राकृतिक कृषि को बढ़ावा दिया जा रहा है और इसके लिए किसानों को केंद्र और राज्य सरकारों की विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ मिल रहा है। इसी कड़ी में हरियाणा की खट्टर सरकार कृषि में रसायनों के अंधाधुंध प्रयोग से घटती मिट्टी की उर्वरता और बंजर भूमि को ध्यान में रखते हुए प्राकृतिक खेती पर जोर दे रही है.

बायोगॅस प्लांट सबसिडी योजना का ऑनलाइन आवेदन करने के लिए

यहाँ क्लिक करें

इसके लिए किसानों (farmers) को गोबर से तैयार खाद का उपयोग (agriculture) कृषि में करने को कहा जा रहा है। गोबर से बनी खाद से मिट्टी में जीवाश्मों की संख्या बढ़ती है, जिससे मिट्टी की उर्वरता बढ़ती है और फसल की उत्पादकता बढ़ती है। इस प्रयास को सफल बनाने के लिए हरियाणा सरकार भी बायोगैस प्लांट (biogas plant) लगाने की सलाह दे रही है।

biogas plant subsidy 2023

जिसके लिए श्रेणी के अनुसार किसानों को अधिकतम 29 हजार रुपये की सब्सिडी दी जा रही है। सरकार का मानना ​​है कि इससे किसानों और चरवाहों के लिए आय का एक अतिरिक्त स्रोत विकसित होगा। साथ ही रोजगार का नया विकल्प भी मिलेगा। इसके अलावा बायोगैस परियोजना (biogas project) से कृषि के लिए जैविक खाद भी उपलब्ध होगी। साथ ही रसोई का चूल्हा जलाने के लिए ईंधन भी उपलब्ध होगा। बायोगैस प्लांट (biogas plant) किसानों को कृषि के साथ-साथ रसोई में दोहरा लाभ देता है। खास बात यह है इसके लिए राज्य सरकार से आवेदन मांगे गए हैं। अब किसान इस योजना में आवेदन कर बायोगैस परियोजना (biogas project) लगा सकते हैं। इसके साथ ही biogas project से उन्हें अतिरिक्त आय अर्जित करने में मदद मिलेगी। आइए ट्रैक्टरगुरु की इस पोस्ट के माध्यम से जानते हैं इस योजना से जुड़ी पूरी जानकारी।

Pm Mudra Loan Yojana 2023 | मुद्रा लोन के लिए ऑनलाइन आवेदन शुरू, पांच मिनट में पाएं 50 हजार रुपये का लोन, यहां करें आवेदन

बायोगैस प्लांट के लिए यहां करें आवेदन | Apply here for biogas plant

हरियाणा राज्य सरकार द्वारा किसानों को बायोगैस परियोजनाएं (gas Projects) स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है और इसके लिए किसानों को बड़ी सब्सिडी का लाभ भी दिया जा रहा है। Biogas Projects के निर्माण हेतु अनुदान हेतु राज्य सरकार से https://biogas.mnre.gov.in/downloads पर आवेदन आमंत्रित किये जाते हैं। सब्सिडी के लिए किसानों और (animal husbandry) पशुपालन/डेयरी संचालकों को गोबर के उचित निस्तारण के लिए Biogas Projects लगाने होंगे। तो आप अपने राज्य एवं जिला कृषि विभाग कार्यालय या उपायुक्त कार्यालय में परियोजना अधिकारी से संपर्क कर आवेदन कर सकते हैं। वहीं, अधिक जानकारी के लिए आप नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग या हरियाणा अक्षय ऊर्जा विकास एजेंसी हरेडा की आधिकारिक वेबसाइट पर संपर्क कर सकते हैं। किसान ई-मित्र केंद्र या सीएससी केंद्र की मदद से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

Animal husbandry: सरकार का नया फैसला घर में गाय है तो 90,783 रु. और अगर भैंस है तो 95,249/- रुपये पाएं और आजही आवेदन करें।

बायोगैस प्लांट आवेदन के लिए जरुरी दस्तावेज | Documents required for biogas plant application

  • आधार कार्ड
  • आवास प्रामाण पत्र
  • जमीन के दस्तावेज
  • बैंक खाता पासबुक
  • पासपोर्ट के आकार की तस्वीर
  • मोबाइल नंबर को आधार से लिंक करें

बायोगैस संयंत्र के लाभ | Benefits of Biogas Plant

  • बायोगैस प्लांट लगाकर पर्यावरण प्रदूषण को कम किया जा सकता है।
  • यह जैविक खाद प्रदान करता है, जो कृषि में मिट्टी की उर्वरता बढ़ाने में मदद करता है। तथा फसल की उत्पादकता भी अच्छी होने लगती है।
  • बायोगैस (मीथेन या गाय के गोबर गैस) को बायोगैस संयंत्र से कम तापमान पर पाचक में चलाकर और रोगाणुओं का उत्पादन करके प्राप्त किया जाता है।
  • बायोगैस संयंत्रों से निकलने वाली गैस में 75 प्रतिशत मीथेन गैस होती है, जो बिना धुआं पैदा किए जल जाती है।
  • बायोगैस का उपयोग ग्रामीण क्षेत्रों में खाना पकाने और ईंधन के लिए किया जा सकता है।
  • एक बायोगैस संयंत्र बिजली पैदा कर सकता है और इसे आसपास के क्षेत्र में आपूर्ति कर सकता है।
  • बायोगैस प्लांट लगाकर हम गाय के गोबर को ऊर्जा के बेहतर विकल्प के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • यह डेयरियों और गौशालाओं में गाय-भैंस के गोबर के निस्तारण का महत्वपूर्ण साधन बनेगा।

E Shram Card New List 2023: गुड न्यूज ! ई-श्रम कार्ड अपात्र खाताधारकों के खाते में 2000 हजार रुपये जमा करना शुरू, यहाँ से चेक करें

गोबर निस्तारण के लिए बायोगैस प्लांट | Biogas plant for cow dung disposal

दरअसल, हरियाणा में बड़े पैमाने पर डेयरी का काम होता है, जिससे गाय और भैंस के गोबर का निस्तारण डेयरी फार्मिंग (dairy farming) संचालकों के लिए बेहद चुनौतीपूर्ण काम है। लेकिन अब इस योजना के तहत ऐसे डेयरी किसान बायोगैस प्लांट लगा सकते हैं और गोबर का निस्तारण कर सकते हैं। डेयरी फार्म संचालक 25 क्यूबिक मीटर क्षमता के प्लांट में 70 से 80 पशुओं के गोबर का निस्तारण कर सकते हैं। साथ ही 35 क्यूबिक मीटर बायोगैस प्लांट में 110 से 115 पशुओं के गोबर का आसानी से निस्तारण किया जा सकता है। इसके अलावा biogas plant लगाकर 130 से 145 पशुओं के गोबर का निस्तारण 45 क्यूबिक मीटर किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles