AgricultureNews

मानसून 2023 का पूर्वानुमान – देखिये किस दिन कहां पहुंचेगा मानसून, कैसी रहेगी इस बार बारिश | mansoon-2023-prediction

नई दिल्ली: भारत मौसम विज्ञान विभाग (India Meteorological Department) द्वारा की गई भविष्यवाणी के अनुसार, भारत में मानसून 4 जून को पहुंचेगा। पिछले साल, आईएमडी की 27 मई की भविष्यवाणी (prediction) के दो दिन बाद 29 मई को केरल में मानसून आया था। कुल मिलकर भारतीय मौसम विभाग (Indian Meteorological Department) की तरफ से अब जो इस साल के लिए पूर्वानुमान लगाया जा रहा है उसके अनुसार मानसून (Monsoon 2023) भारत में 4 जून को पहुँच जायेगा जो की केरल से शुरू होगा।

निजी मौसम पूर्वानुमान एजेंसी स्काईमेट ने भी इस साल केरल में मानसून (Monsoon 2023) देरी से आने की उम्मीद जताई है। स्काईमेट मौसम एजेंसी ने कहा कि केरल में मानसून की शुरुआत 7 जून को के एरर मार्जिन के साथ होने की उम्मीद है। इसमें स्काइमेट की तरफ से 3 तीन ऊपर निचे होने की उम्मीद के अनुसार पूर्वानुमान लगाया गया है।

Free Solar Rooftop Yojana 2023: सिर्फ 600 रुपये में छत पर लगा सकेंगे सोलर पैनल, यहां से 25 मई तक तुरंत ऑनलाइन आवेदन करें

स्काईमेट ने हाल ही में मानसून के पूर्वानुमान को लेकर एक ट्वीट किया जिसमे बताया गया है की केरल की भारतीय मुख्य भूमि पर दक्षिण पश्चिम मानसून 2023 (Monsoon 2023) की शुरुआत में एक सप्ताह की देरी होने की उम्मीद है। 7 जून को +/- 3 दिनों के त्रुटि मार्जिन के साथ शुरुआत की उम्मीद है।

पूर्वोत्तर और पूर्वी भारत के कुछ हिस्सों में भारी वर्षा की भविष्यवाणी

भारतीय मुख्य भूमि पर दक्षिण-पश्चिम मानसून (Monsoon 2023) केरल के ऊपर मानसून की शुरुआत से चिह्नित है। यह एक गर्म और शुष्क मौसम से बरसात के मौसम में संक्रमण का एक महत्वपूर्ण संकेतक है। विशेष रूप से, आईएमडी ने अगले 5 दिनों में पूर्वोत्तर और पूर्वी भारत के कुछ हिस्सों में भारी वर्षा (heavy rainfall) की भविष्यवाणी की है। इसमें 21 मई तक गंगा और हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम, मेघालय, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में बारिश, ओलावृष्टि शामिल है।

Fasal Bima: इन 2.5 लाख किसानों के खातें में जमा होंगे 87 करोड 13 लाख रुपये, इस जिलें के किसानों के खाते में जमा होंगे पैसे |

औसत का 96% बारिश होने की संभावना

इस वर्ष, केरल में दक्षिण-पश्चिम मानसून (Monsoon 2023) की शुरुआत की सामान्य तिथि की तुलना में थोड़ी देरी होने की संभावना है। केरल में मॉनसून की शुरुआत ± 4 दिनों की मॉडल त्रुटि के साथ 4 जून को होने की संभावना है। भारत ने इस साल सामान्य मॉनसून की भविष्यवाणी (Mansoon predicted) की है, जिसमें लंबी अवधि के औसत का 96% बारिश होने की संभावना है।

दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) और आसपास के इलाकों में शुक्रवार को हल्की से मध्यम बारिश के साथ-साथ गरज और तेज हवाएं चलने की संभावना है। हालांकि, निजी पूर्वानुमान एजेंसी स्काईमेट वेदर ने कहा कि मानसून (monsoon) के तीन दिनों के त्रुटि मार्जिन के साथ 7 जून को केरल पहुंचने की संभावना है।

Kusum Solar Pump Scheme : कुसुम सोलर पंप स्टेज-2 के लिए 17 मई से ऑनलाइन आवेदन शुरू, तुरंत करें अपना आवेदन |

जून के अंत तक गर्म मौसम जारी रहेगा

शुरुआत में देरी होगी और प्रायद्वीपीय भारत पर प्रगति थोड़ी सुस्त होगी। देश के मध्य और उत्तरी भागों में इस वर्ष जून के अंत तक गर्म मौसम जारी रहेगा। यह खरीफ की बुवाई (kharif sowing) के लिए शुभ संकेत नहीं हो सकता है। स्काईमेट वेदर ने कहा कि एक शक्तिशाली चक्रवात ‘फैबियन’ (severe Cyclone ‘Fabian’) भूमध्यरेखीय अक्षांशों में दक्षिण हिंद महासागर के ऊपर बढ़ रहा है। इसमें कहा गया है कि तूफान-ताकत वाली मौसम प्रणाली को क्षेत्र को साफ करने में लगभग एक सप्ताह का समय लगेगा। यह भयानक तूफान (severe storm) विषुवतीय रेखा (across the equator) के पार प्रवाह और मानसून धारा के निर्माण को प्रतिबंधित कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles